शासन द्वारा जारी की गई ई-खसरा पड़ताल में जनपद एटा को मिला प्रथम स्थान

जिलाधिकारी के निर्देशन में प्रतिदिन की गई नियमित रूप से समीक्षा के उपरान्त मिला सार्थक परिणाम

जिलाधिकारी ने जनपद एटा को प्रदेशभर में प्रथम स्थान मिलने पर संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों को दी बधाई

एटा,  शासन द्वारा जारी गई ई-खसरा पड़ताल में जनपद एटा को प्रथम स्थान मिला है। जिलाधिकारी प्रेम रंजन सिंह ने जनपद एटा को प्रथम स्थान पर राजस्व विभाग, कृषि विभाग सहित अन्य विभागीय अधिकारियांे, कर्मचारियों को बधाई देते हुए पूर्ण निष्ठा, मनोयोग से कार्य करने के निर्देश दिए। डीएम ने कहा कि ई-खसरा पड़ताल में जिले को प्रथम स्थान मिलना बड़े ही गौरव की बात है, इससे यह जाहिर होता है कि जनपद के अधिकारी, कर्मचारी कितने गंभीर हैं।

जिलाधिकारी ने बताया कि मा० आयुक्त एवं सचिव राजस्व परिषद उ०प्र० लखनऊ के निर्देशों के क्रम में जनपद में 02 जनवरी 2024 से ई-खसरा पड़ताल का कार्य प्रारम्भ किया गया, जनपद के 822 राजस्व ग्रामों के कुल 475785 गाटों का डिजिटल क्रॉप सर्वे (ई-खसरा पड़ताल) किया जाना था, इस कार्य के लिए सर्वेयर के रूप में कृषि विभाग के 31 प्राविधिक सहायकों, बी०टी०एम, ए०टी०एम० राजस्व विभाग के 139 लेखपालों तथा पंचायत विभाग के 358 पंचायत सहायकों तथा कुछ रोजगार सहायकों को योजित किया गया, सुपरवाइजर के रूप में राजस्व निरीक्षकों तथा वेरीफायर की रूप नायब तहसीलदारों को योजित किया गया। इसके साथ ही जनपद में 02 डिस्ट्रिक्ट मास्टर ट्रेनर्स तथा प्रत्येक तहसील पर 2-2 मास्टर ट्रेनर्स को प्रशिक्षित किया गया समस्त सर्वेयर, सुपरवाइजर एवं वेरीफायर को माह दिसम्बर, 2023 में 3-3 बार प्रशिक्षण प्रदान कर कार्य सम्पादन हेतु प्रशिक्षित किया गया।

डीएम ने कहा कि डिजिटल क्राप सर्वे कार्य में सर्वेयर्स को आ रही तकनीकी समस्याओं के निवारण हेतु उप कृषि निदेशक कार्यालय में 04 सीटर हेल्प डेस्क स्थापित की गयी जिससे सर्वेक्षण कार्य में आने वाली समस्या का त्वरित निस्तारण सम्भव हो सका। जिलाधिकारी द्वारा प्रतिदिन नियमित रूप से वीसी के माध्यम से समीक्षा की गई, जिसका परिणामस्वरूप अधिकारियों, कर्मचारियों की मेहनत रंग लाई। प्रतिदिन की समीक्षा हेतु वर्चुअल बैठक में उप कृषि निदेशक, समस्त उप जिलाधिकारी, समस्त तहसीलदार, समस्त खण्ड़ विकास अधिकारी द्वारा प्रतिभाग किया गया। इसके अलावा समय-समय पर जिलाधिकारी महोदय द्वारा दिये गये मार्गदर्शन के अनुसार कार्य सम्पादन में गति लाने हेतु रणनीति में परिवर्तन व सुधार किये गये। इस कार्य से फसल आच्छादन, उत्पादन की सटीक जानकारी तथा कृषि क्षेत्र में सूक्ष्म स्तर पर लक्षित क्षेत्र हेतु योजनाओं नियोजन एवं अन्य लाभ प्राप्त हो सकेंगे। दिनांक 05 अप्रैल को सम्पूर्ण ई-खसरा पडताल का कार्य पूर्ण हो गया तथा जनपद को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ।

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *