मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के सुख सुविधा के लिए व्यवस्था होनी चाहिए

मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के सुख सुविधा के लिए व्यवस्था होनी चाहिए।

रिपोर्ट वाराणसी

शिवाला घाट स्थित पूर्णानंद मठ में भगवान चंद्रमौलीश्वर महादेव मंदिर के जीर्णोद्धार समारोह के अवसर पर कांची कामकोटि पीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी श्री शंकर विजयेन्द्र सरस्वती जी महाराज ने कहा कि नए मंदिर बनाने की जगह पुराने मंदिरों का जीर्णोद्धार होना चाहिए । मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के सुख सुविधा के लिए व्यवस्था होनी चाहिए ताकि किसी को कोई परेशानी ना हो सके। उन्होंने कहा कि सनातन धर्म अत्यंत प्राचीन है लेकिन इसका नवीकरण भी किया जाना चाहिए। विदित हो कि भारतीय मूल के अमेरिका निवासी रमन त्रिपाठी ने इस जीर्ण-शीर्ण मंदिर का जीर्णोद्धार कराया जिसका लोकार्पण जगतगुरु शंकराचार्य जी करकमलों से हुआ।इससे पूर्व जगतगुरु शंकराचार्य का पूर्ण कुंभ देकर स्वागत श्री काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास के सदस्य के वेंकटरमण घनपाठी ने किया। तत्पश्चात जगतगुरु शंकराचार्य ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच चंद्रमौलीश्वर महादेव का अभिषेक किया।कार्यक्रम का संचालन के वेंकटरमण घनपाठी एवं धन्यवाद ज्ञापन रमन त्रिपाठी ने किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से कांची मठ के प्रबंधक वीएस सुब्रमण्यम मणि, काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास के अध्यक्ष प्रोफेसर नागेंद्र पांडे बृजभूषण ओझा पतंजलि मिश्रा मंदिर के ट्रस्टी संदीप जोशी सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *