जिला पदाधिकारी ने की मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के साथ बैठक

जिला पदाधिकारी ने की मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के साथ बैठक

बिहार वैशाली हाजीपुर न्यूज
.……………………………..
पांच मतदान केंद्रों पर सहायक मतदान केंद्र बनाए जाएंगे
…………………………..
हाजीपुर 23 मार्च।
आज जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी श्री यशपाल मीणा द्वारा लोकसभा आम निर्वाचन 2024 की तैयारी के मद्देनजर सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के जिला अध्यक्ष के साथ बैठक की गई।
उन्होंने सभी प्रतिनिधियों को निर्वाचन कार्यक्रम और तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी थी।
उन्होंने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देश के आलोक में वैसे मतदान केंद्र, जहां मतदाताओं की संख्या 1549 या इससे अधिक है, वहां सहायक मतदान केंद्र बनाए जायेंगे।
उन्होंने बताया कि वैशाली विधानसभा क्षेत्र का मतदान संख्या 59 राजकीय बुनियादी विद्यालय भगवानपुर रत्ती, कमरा नंबर 1, राजापाकर विधानसभा क्षेत्र का मतदान केंद्र संख्या 172 तहसील कचहरी रसूलपुर हबीब, राघोपुर विधानसभा क्षेत्र का मतदान केंद्र संख्या 236 उत्क्रमित मध्य विद्यालय मीरामपुर, पश्चिमी भाग कमरा संख्या 1, राघोपुर विधानसभा क्षेत्र का ही मतदान केंद्र संख्या 282 उत्क्रमित मध्य विद्यालय फतेहपुर टोला, खुदगास,कमरा संख्या 1 तथा पातेपुर विधानसभा क्षेत्र का मतदान केंद्र संख्या 243 उर्दू प्राथमिक विद्यालय भगवानपुर नूरपुर (पूर्वी भाग) में मतदाताओं की संख्या 1549 से ज्यादा है, इसलिए इन पांच मतदान केंद्रों पर सहायक मतदान केंद्र बनाए जाने का प्रस्ताव है।
उन्होंने राजनीतिक दलों से अनुरोध किया कि वैशाली लोकतंत्र की जननी है और वे भी अपने स्तर से लोगों को जागरूक और प्रेरित करने का प्रयास करें ।
बैठक में बैठक में बहुजन समाज पार्टी, भारतीय जनता पार्टी, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सिस्ट) , इंडियन नेशनल कांग्रेस, जनता दल (यूनाइटेड), राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी, लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास), राष्ट्रीय जनता दल, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी, सीपीआई (एमएल) आदि के प्रतिनिधि मौजूद थे।
मालूम हो कि मतदाता सूची पुनरीक्षण के बाद से जिला पदाधिकारी द्वारा प्रत्येक शनिवार को मान्यताप्राप्त राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के प्रत्येक शनिवार को बैठक कर उन्हें सारी सूचनाओं से अवगत कराया जाता है।
बैठक में q हरेंद्र राम, एसडीएम रामबाबू बैठा, जिला जन संपर्क पदाधिकारी नीरज मौजूद थे।अविनाश रंजन की रिपोर्ट

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *