आकांक्षात्मक से आगे बढ़कर विकसित जनपद बन रहा सिद्धार्थनगर: मुख्यमंत्री

बुद्ध की धरा को मुख्यमंत्री योगी ने दिया ₹1885 करोड़ की 551 विकास परियोजनाओं का उपहार

‘विकसित भारत’ के लिए ‘विकसित उत्तर प्रदेश’ जरूरी, यह संकल्प तभी होगा पूरा जब साकार होगा विकसित सिद्धार्थनगर का सपना: मुख्यमंत्री

सांसद जगदम्बिका पाल को सराहा, कहा ऐसा सांसद चुनने के लिए जनपदवासियों को बधाई

बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता, गरीब कल्याण की नीतियों से बदल रहा सिद्धार्थनगर

सिद्धार्थनगर मेडिकल कॉलेज में नर्सिंग कॉलेज की होगी स्थापना, मुख्यमंत्री ने रखी आधारशिला

सिद्धार्थनगर/लखनऊ, 15 मार्च: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि डबल इंजन की सरकार के लगातार प्रयासों से सिद्धार्थनगर जनपद के पिछड़ेपन का दंश मिट गया है। अब तक आकांक्षात्मक जनपद की श्रेणी में आने वाला यह जिला अब विकसित जनपद के रूप में तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि आज पूरा देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकसित भारत के संकल्प से जुड़ चुका है और यह संकल्पना ‘विकसित उत्तर प्रदेश’ से ही साकार होगी लेकिन विकसित उत्तर प्रदेश तभी होगा, जब सिद्धार्थ नगर विकसित होगा और इसके लिए भाजपा का होना बहुत जरूरी है।

मुख्यमंत्री ने कहा होली से पूर्व शुक्रवार को जनपद मुख्यालय पर जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने माधव प्रसाद त्रिपाठी राजकीय मेडिकल कॉलेज में नर्सिंग कॉलेज के शिलान्यास सहित ₹1885 करोड़ की 551 विकास परियोजनाओं का उपहार दिया।

जनपद के पिछड़ेपन का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह जिला दशकों से इसीलिए पिछड़ा रहा, क्योंकि न यहां जीवन जीने के लिए बुनियादी सुविधाएं थीं, न ही रोजगार के अवसर। माफिया गरीबों का हक मार जाता था और सरकारी योजनाओं का लाभ जनता को मिलता ही नहीं था। अपने निजी अनुभव साझा करते हुए उन्होंने इंसेफेलाइटिस से मासूम बच्चों की मौत की चर्चा भी की और कहा कि पिछली सरकारों ने कभी इन विषयों पर ध्यान नहीं दिया। जबकि आज डबल इंजन की सरकार ने माफिया और मच्छर दोनों को ही समाप्त कर दिया है। सिद्धार्थनगर में शिक्षा और स्वास्थ्य की अच्छी सुविधा सुलभ हुई है। गरीबों को आवास मिल रहा है, 05 लाख तक का निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा मिला है, 05 वर्ष तक मुफ्त राशन की व्यवस्था हुई है। डबल इंजन सरकार की लोककल्याणकारी योजनाओं की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों को दिया। जनसभा के बीच उन्होंने जनता से पूछा कि मुफ्त राशन, आवास, और स्वास्थ्य बीमा कांग्रेस, सपा और बसपा की सरकारें दे सकती थीं, क्या राममंदिर निर्माण पिछली सरकारों के दौर में संभव था, जनता की ओर से एक स्वर में “नहीं” की आवाज आई। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में भारत 11वें नंबर पर था लेकिन प्रधानमंत्री जी के प्रयासों से आज भारत दुनिया का 05वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है और अब मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल में हमारा देश विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी ने स्थानीय सांसद जगदम्बिका पाल की कर्मठता को भी सराहा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार के समय जब जगदम्बिका पाल कांग्रेस के सांसद थे, तब भी संसद में मेरे स्वर में स्वर मिलाते हुए इंसेफेलाइटिस के खिलाफ लड़ाई लड़ते थे। आज भी यह सिद्धार्थनगर के लिए जितनी मेहनत करते हैं, वह 40 साल के किसी युवा जैसा है। ऐसा ऊर्जावान सांसद चुनने के लिए यहां की जनता बधाई की पात्र है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिद्धार्थनगर के विकास के लिए जगदम्बिका पाल का सांसद होना बहुत जरूरी है

लोकार्पित होने वाली प्रमुख परियोजनाएं
● तेतरी-सोहास-लोटन मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण ● बांसी-धानी मार्ग (अन्य जिला मार्ग) के किमी 1 से किमी 25 तक का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण ● डुमरियागंज-चंद्रदीप घाट मार्ग (अन्य जिला मार्ग) के किमी 1 से किमी 17.10 तक का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण ● मेंहदावल-रुदौली-डुमरियागंज राजमार्ग संख्या-160 के चैनेज 37.000 से 52.200 तक का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण ● डुमरियागंज-बांसी मार्ग के औराताल-गौराबाजार मार्ग पर राप्ती नदी सेतु, पहुंच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य ● मारूखर्गकला के पास बूढ़ी राप्ती नदी पर सेतु पहुंच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य ● सोनपुर बंधे से गजरहवा गांव के मध्य जमुआर नाले पर सेतु, पहुंच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य ● इटवा एवं कपिलवस्तु नगर पंचायत का भवन ● डुमरियागंज के तिगोड़वा में राजकीय महाविद्यालय मिश्रौलिया (मिठवल) ● महादेवा नानकार (शोहरतगढ़) एवं बुद्धिखास (भनवापुर) में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान ● सिकहरा ताल ड्रेन

परियोजनाएं जिनका शिलान्यास हुआ
● जिगनिहवा-चेतिया मार्ग (अन्य जिला मार्ग) का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण ● डिड़ई-बेलौहा मार्ग (अन्य जिला मार्ग) का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण ●राप्ती नदी के दाएं तट पर स्थित डुमरियागंज-बांसी तटबंध के किमी 0.600 से 32.865 तक का उच्चीकरण एवं सुदृढ़ीकरण ● बलरामपुर एवं सिद्धार्थनगर में राप्ती मुख्य नहर के किमी 50.000 से किमी 125.682 के मध्य एवं निकली वितरण प्रणाली पर कुलाबा ●कैम्पियरगंज शाखा के विभिन्न स्थलों (किमी-26.500, किमी-33.600, किमी-36.610) पर ड्रेनेज साइफन ● इटवा शाखा के किमी 18.300 से किमी 25.300 एवं डाउन स्ट्रीम की सभी नहरों का पुनुरुद्धार ● सिद्धार्थनगर एवं महाराजगंज में कैम्पियरगंज शाखा पर प्रेशर प्रणाली द्वारा सिंचाई परियोजना

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *