हरियाणा के पू0 मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी ने अपनी सम्पूर्ण संपत्ति प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष मेंऔर

हरियाणा के पू0 मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी ने अपनी सम्पूर्ण संपत्ति प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में
और
अपना निजी आवास सार्वजनिक पुस्तकालय के लिए दान करके आजादी के बाद रच दिया इतिहास।

सीएम पद से इस्तीफा देने के मात्र 30 मिनट बाद सरकारी आवास खाली करके गेस्ट हाउस में रुके और अगली सुबह उसे नए मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी को सौप दिया।

विधान-सभा की सदस्यता से त्यागपत्र दिया और नए मुख्यमंत्री को अपनी एमएलए सीट देकर संगठन का काम करने के लिए केंद्रीय नेतृत्व के सामने अपने को समर्पित किया।

भौतिकवादी घोर कलयुग में मुझे याद नहीं आ रहा कि इस प्रकार का आदर्श किसी दूसरे राजनेता ने प्रस्तुत किया हो।

इन्होंने पूरे हरियाणा के हर सरकारी विभाग का डिजिटल करके सारी सुविधाओं को ऑनलाइन कर दिया, इससे लोगों को ऑफिस के चक्कर काटने से मुक्ति मिल गई। अंत्योदय सरल हरियाणा, ई-दिशा, ई गवर्ननेंस, ऑनलाइन प्रॉपर्टी ट्रांसफर, ई- ट्रांसफर, बिना पर्ची/सिफारिश ऑनलाइन आवेदन और नियुक्ति, डिजिटल इंस्टैंट राशनकार्ड, परिवार पहचान पत्र से पात्र पेंशनधारकों की पहचान और भुगतान, ऑनलाइन वॉटर/बिजली बिल, फसल पोर्टल, ग्राम पंचायतों का डिजिटलिकरन जैसी 400+ से ज्यादा सुविधाएं घर बैठे उपलब्ध करवा दी। हरियाणा के लोगों का जीवन आसान बना दिया।
इसी सरल पोर्टल को अब यूपी, मध्य प्रदेश और असम ने भी कॉपी किया।

प्रिय श्री मनोहर लाल जी का हम ह्रदय से अभिनंदन करते हैं।

मोदी जी के रूम मेट रहे मनोहर लाल वाकई मोदी से कम नहीं है।

“दास कबीर जतन करि ओढी,
ज्यों कीं त्यों धर दीनी चदरिया॥”

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *