रामलला के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर लोगों में बहुत उत्सुकता है

रामलला के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर लोगों में बहुत उत्सुकता है. उनके मन में रामलला को लेकर बहुत से सवाल हैं. कैसी मूर्ति है, किस धातु से बनी है, किसने बनाई है, आइए इन सभी सवालों के जवाब जान लेते हैं-

सवाल- रामलला की मूर्ति का साइज क्या है?
जवाब- 22 जनवरी, 2024 को राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला की 51 इंच लंबी मूर्ति स्थापित की जाएगी.

सवाल-कैसी है मूर्ति?
जवाब- मूर्ति में रामलला को खड़े हुए दिखाया गया है. रामलला गर्भगृह में कमल के फूल पर विराजमान होंगे. कमल के फूल के साथ उनकी लंबाई 8 फीट होगी.

सवाल- किस धातु से बनी है मूर्ति?
जवाब- मूर्तिकार अरुण योगीराज ने बताया कि उन्होंने कृष्ण शिला पर रामलला की मूर्ति तैयार की है. यह कृष्ण शिला कर्नाटक के उडुपी से लाई गई थी.

सवाल- रामलला की पोशाक कैसी है, कहां से बनी है, किसने बनाई?
जवाब- प्राण प्रतिष्ठा के दिन रामलला पीले रंग के वस्त्र पहनेंगे. दिन के हिसाब से उनकी पोशाक का रंग बदलता रहेगा. रविवार को गुलाबी, सोमवार के सफेद, मंगल को लाल, बुध को हरा, गुरुवार को पीला, शुक्र को क्रीम और शनिवार को रामलला नीले रंग की पोशाक पहनेंगे. अयोध्या में शंकर लाल का परिवार 1985 से रामलला के वस्त्र सिल रहा है. पहले उनके पिताजी यह काम करते थे और अब शंकर लाल और उनके भाई रामलला के वस्त्र बनाते हैं.

सवाल- कितनी उम्र है रामलला की?
जवाब- रामलला की जिस मूर्ति को गर्भगृह में रखा जाएगा, वह भगवान राम के 5 साल के बालरूप को दिखाती है.

सवाल- रामलला की मूर्ति का सूर्य तिलक कब होगा?
जवाब- रामनवमी के दिन दोपहर के ठीक 12 बजे सूर्य का प्रकाश रामलला के माथे पर पड़ेगा, जिसे सूर्य तिलक कहा जाएगा. हर साल रामनवमी के दिन भक्तों को यह अद्भुत दृश्य देखने को मिलेगा. इसके लिए एक्सपर्ट्स ने खूब रिसर्च करके डिजाइन तैयार किया और ऐसी व्यवस्था की कि हर साल रामलला के ललाट पर सूर्य का प्रकाश रामनवमी के दिन पड़े.

सवाल- रामलला की पुरानी मूर्ति का क्‍या होगा?
जवाब- श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट से जुड़े सूत्रों से मुली जानकारी के मुताबिक, रामलला की पुरानी मूर्ति जो फिलहाल छोटे मंदिर में स्थापित है, उसकी भी नई मूर्ति के साथ गर्भगृह में प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी. पुरानी मूर्ति को देशभर के सिद्ध मंदिरों में ले जाया जाएगा और फिर प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी. नई मूर्ति को अचल और पुरानी मूर्ति को उत्सवमूर्ति के नाम से जाना जाएगा.

सवाल- कब होगी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा?
जवाब- पंडित गणेश्वर शास्त्री द्रविड ने रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 84 सेकेंड का शुभ मूहुर्त निकाला है, जो 22 जनवरी को 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकेंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकेंड तक होगा. राम मंदिर के शिलान्यास का शुभ मूहुर्त भी पंडित गणेश्वर शास्त्री द्रविड ने ही निकाला था.

सवाल- किसने बनाई रामलला की मूर्ति?
जवाब- मैसूर के मूर्तिकार अरुण योगीराज शिल्पद्वारा बनाई गई रामलला के 5 साल के बालस्वरूप वाली मूर्ति को गर्भगृह में स्थापित किया जाएगा.

सवाल- कितनी मूर्तियां बनाईं, कौन सी कहां रखी जाएगी?
जवाब- रामलला की एक-एक मूर्ति बेंगलूरू के मूर्तिकार गणेश भट्ट और राजस्थान के सत्यनारायण पांडे ने भी तैयार की है. तीनों मूर्तिकारों ने तीन मूर्तियां बनाईं थीं. श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के अधिकारियों ने बताया कि 51 इंच वाली मूर्ति के अलावा बाकी दो मूर्तियों को भी मंदिर के अन्य हिस्सों में स्थापित किया जाएगा.

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Notifications OK No thanks