एटा में दो तालाब ऐसे बनने जा रहे है जो पूरे प्रदेश में कहीं पर भी नहीं


एटा, । एटा में दो तालाब ऐसे बनने जा रहे है जो पूरे प्रदेश में कहीं पर भी नहीं हैं। इन तालाबों में पर्यटक आएंगे। तालाब में 50 एचपी की नाव चलेंगी। सौंदर्यीकरण इतना होगा कि आप देखते ही रह जाएगें। इन तालाबों पर काम शुरू हो चुका है। अगर सब कुछ सही से चला तो मार्च के अंतिम सप्ताह में यह तालाब बनकर तैयार हो जाएगे। एक तालाब को तैयार करने में साढे़ तीन करोड़ रुपया खर्च हो रहा है।

ब्लॉक सकीट क्षेत्र के गांव मलावन का तालाब करीब 125 बीघा में फैला हुआ है। इस तालाबा का सौंदर्यीकरण कराया जा रहा है। तालाब को झील का रुप दिया जा रहा है। इसकी जिम्मेदारी लघु सिंचाई विभाग को दी गई है। मलावन में तालाब को तैयार किया जा रहा है उसमें लोगों के चलने के लिए फुटपाथ बनाया गया। ब्रेंच लगाई जाएगी। बीच-बीच में सुंदर पौधे लगाए जाएंगे। तालाब से जीटी रोड तक यह रोड तैयार किया जा रहा है। इससे आने जाने में सुगमता रहे। दो रैंपें बनाई जाएंगी। तालाब में एक बोट चलाई जाएगी। बोट की क्षमता 50 होर्स पॉवर की होगी। एक बार में दर्जन से अधिक लोगों को बैठकर इधर से उधर ले जाया जाएगा। तालाब का सौंदर्यीकरण पूरा होने पर इसें ग्राम पंचायत के हवाले कर दिया जाएगा। मलावन की तरह की हरचंद्रपुर के तालाब का भी जीणोद्धार किया जा रहा है। तैयार होने के बाद इन तालाबों को पर्यटक स्थल के रूप में जान जाएगा। जिले की अच्छी और नई धरोहर होगी।

गांव की आय बढ़ाने में भी सक्षम होगा तालाब एटा। सात करोड़ रुपये की लागत से तैयार हो रहे इन तालाबों से ग्राम पंचायतों की आय बढ़ेगी। तालाब में जो पानी है उससे बिजली बनाए जाने की भी योजना है। तालाब के पानी से बनने वाली बिजली भी ग्रिड को दे दी जाएगी। इससे आमदनी भी बढ़े और पंचायत क्षेत्र के लोगों को भरपूर बिजली भी मिल सके।

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Notifications OK No thanks