जनपद कासगंज के लाल ने PCS परीक्षा में यूपी में 10वीं रेंक हासिल कर कामयावी की हासिल..

जनपद कासगंज के लाल ने PCS परीक्षा में यूपी में 10वीं रेंक हासिल कर कामयावी की हासिल..

पिता को 3 बार कैंसर हुआ, लेकिन माधव उपाध्याय ने घर में रहकर पढ़ाई कर 2023 में प्रयागराज में सहायक समीक्षा अधिकारी बने,

माधव उपाध्याय ने PCS में यूपी में 10वीं रेंक हासिल कर कामयावी हासिल की, लेकिन माधव कहते हैं उन्हे आईएएस बनना है,

कासगंज – उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने मंगलवार को देर शाम पीसीएस परीक्षा-2023 का अंतिम चयन परिणाम घोषित किया, जिसमें कासगंज जिले की तहसील पटियाली क्षेत्र के कालानी गांव के रहने वाले माधव उपध्याय ने 10 वीं रेंक हासिल कर अपने गांव के साथ साथ कासगंज जिले का नाम भी रोशन करने का काम किया है, वही माधव की इस कामयावी पर उनके घर परिवार वाले ओर दोस्त जश्न मना रहे हैं, माधव को चौथे अटेम्प्ट में जाकर यह सफलता मिली है, लेकिन माधव उपाध्याय का सपना आईएएस बनने का है।

27 वर्षीय माधव उपाध्याय ने बताया कि उनका चयन हुआ है, इसमें
ईश्वर और माता पिता का आशीर्वाद है, मेरी सफलता पर मेरे माता पिता और मेरे दोस्तों ने मेरी काफी सहायता की है। मेरे पिता को 2017, 2021 ओर 2022 मे कैंसर हुआ था, जिसको लेकर काफी समस्या भी झेली, पिता की बजह से घर पर रहकर अपनी तैयारी की थी। तैयारी के दौरान 20 जनवरी 2023 को उनका पहला रिजल्ट आया, जिसमें वह सहायक समीक्षा अधिकारी बने, माधव ने 24 जून 2023 को बतौर सहायक समीक्षा अधिकारी के पद एक प्रयागराज सचिवालय में जॉइन किया, लेकिन सपना आईएएस बनने का था, जिसको लेकर तैयारी नौकरी पर रहते हुए जारी रखी।
आज PCS का रिजल्ट आया, जिसमें उन्होंने 10 वीं रेंक हासिल है, माधव कहते हें कि सपना आईएएस बनने का है, इसको लेकर फिर से वह UPSC की तैयारी करेंगे।

माधव उपाध्याय की मां आशा देवी कासगंज जिले में एक आगनवाड़ी कार्यकर्त्री हैं और पिता हरिओम पेशे से एक किसान हैं। बड़े भाई मोहित उपाध्याय कासगंज जिले के सिडपुरा कस्वे मे एक इलेक्ट्रॉनिक की दुकान चलाते हैं दो बहिने खुशबु ओर सुगंधी हैं उनकी शादी हो चुकी है।

माधव ने एटा जिले के नवोदय विद्यालय से अपनी हाई स्कूल और इंटर की पढ़ाई की। कासगंज जिले के गंजडुंडवारा में स्थित PG कॉलेज से ग्रेजुेशन की है।
आज माधव अपनी सफलता पर बहुत खुश हैं, अपने दोस्तों के साथ प्रयागराज मे जश्न मना रहे हैं।

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Notifications OK No thanks