ई रिक्शा,ऑटो चालकों से गब्बर टैक्स के विरोध में भाकियू(स्वतंत्र) चालकों के समर्थन में

ई रिक्शा,ऑटो चालकों से गब्बर टैक्स के विरोध में भाकियू(स्वतंत्र) चालकों के समर्थन में

धरना प्रदर्शन स्थल पहुँचे एसडीएम ने प्रदर्शकारियों ने सौंपा ज्ञापन

एटा – एटा आज दिनांक 29 जनवरी 2024 भारतीय किसान यूनियन (स्वतंत्र) के राष्ट्रीय अध्यक्ष तरुन शर्मा ने अपने सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ ई-रिक्शा व ऑटो रिक्शा चालकों से गब्बर टैक्स बसूलने के विरोध में सैकड़ों ई-रिक्शा व ऑटो रिक्शा चालकों के साथ शहीद पार्क में किया धरना प्रदर्शन। जनपद एटा में नगरपालिका परिषद द्वारा ई रिक्शा व ऑटो रिक्शा चालकों से 15 रूपये व 20 प्रतिदिन ठेका के नाम पर बसूला जा रहा हैं। जनपद में 6000 ई रिक्शा चलते हैं। 15×30 450 रूपये प्रति माह एक ई- रिक्शा 6000×450= 270000 रूपये प्रति माह ई-रिक्शा व ऑटो रिक्शा 20 रूपये प्रतिदिन 20×30= 600 रूपये प्रति माह। 24 ऑटो रिक्शा 2400×600= 14,40,000 रूपये प्रति माह नगर पालिका द्वारा ई -रिक्शा व ऑटो रिक्शा चालकों से ठेका के नाम से बसूली की जाती हैं। जो अवैध हैं। गरीब मजदूर ऑटो रिक्शा व ई-रिक्शा चलाकर अपना परिवार पाल रहें हैं। नगर पालिका अध्यक्षा श्रीमती सुधा गुप्ता द्वारा सभाषादों के साथ वैठक किये बगैर ही जबरिया (गब्बर) टैक्स बसूली करा रहीं हैं। जो निराधार हैं। नगर पालिका ई -रिक्शा, ऑटो रिक्शा चालकों को ना सुरक्षित स्टेण्ड की सुविधा उपलब्ध करा रही हैं। ना ही उनके रुकने या वैठने की समुचित व्यवस्था दे पा रही हैं।
तरुन शर्मा ने कहा कि नगर पालिका अध्यक्षा श्रीमती सुधा गुप्ता द्वारा नगर पालिका कर्मियों द्वारा ठेका के नाम पर गब्बर टैक्स बसूला जा रहा हैं। जो अवैध हैं।

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Notifications OK No thanks