मेला दिखाने के बहाने साथ ले गए थे देवर.. 3 दिन तक घुमाते रहे.. फिर गैगरेप के बाद कर दिया क़त्ल

मर्डर मिस्ट्री का खुलासा..

मेला दिखाने के बहाने साथ ले गए थे देवर.. 3 दिन तक घुमाते रहे.. फिर गैगरेप के बाद कर दिया क़त्ल

#उत्तर प्रदेश के फतेहपुर मे गत दिवस सेफ्टी टेंक मे मिली युवती की लाश की पहचान के बाद उसके 2 देवरो ननकू लोधी, पुत्तन लोधी और 1 अन्य अज्ञात पर हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ हैं।
युवती ज्यादातर मायके में रहती थी….
गाजीपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की युवती (23) की शादी 28 अप्रैल 2022 को राधानगर थाना क्षेत्र के एक गांव में हुई थी। पति दुबई में नौकरी करता है। युवती ज्यादातर मायके में रहती थी। 15 जनवरी को वह खेत से शाह कस्बा मेला देखने गई थी। इसके बाद से लापता हो गई थी। शनिवार सुबह युवती का शव निर्माणाधीन मकान के सेफ्टी टैंक से बरामद हुआ।

बेटी खेत पर काम कर रही थी, तीनों ने खेत पर शराब पी थी…
सूचना पर पहुंचे परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस में कपड़ों, गले, हाथ की ताबीज, जेवरों से पहचान की। शिनाख्त के बाद पिता ने बताया कि बेटी के चचेरे देवर ननकू लोधी, पुत्तन लोधी समेत तीन लोग दो बाइक से 15 जनवरी को खेत आए थे। बेटी खेत पर काम कर रही थी। वही से उसे बुलाकर ले गए।

वहशियत के साथ ली गई जान…

फतेहपुर जिले में  निर्माणाधीन मकान में मिले साक्ष्यों से लगता है की युवती की क्रूरतापूर्वक हत्या की गई है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि हत्यारे युवती का बाल पकड़कर सीढि़यों से घसीटते ले गए हैं। सेफ्टी टैंक के बाहर बालों के टुकड़े और टूटी चूड़ियां मिली हैं।

कम्बल बिछाकर किया रेप..

घटनास्थल निर्माणाधीन मकान के भूतल पर कंबल बिछा मिला है। वहीं उसकी महरून रंग की साड़ी पड़ी थी। पहली मंजिल पर खून से सनी दो ईंटे, समोसे का आधा टुकड़ा और छह समोसे पॉलिथीन के साथ दूसरे कपड़े मिले हैं। भूतल की सीढि़यों पर खून लगा था।टूटी चूड़ियों के टुकड़े और बाल टैंक के बाहर मिले।  माना जा रहा कि भूतल पर हत्यारोपियों ने युवती के साथ दुष्कर्म किया होगा। विरोध करने पर दुष्कर्म के बाद पहली मंजिल पर ले गए। वहां विवाद बढ़ता चलता गया। किसी ने समोसा आधा खाने के बाद विवाद के चलते फेंक दिया।

बाल पकड़कर सीढि़यों से घसीटते हुए टैंक तक लाए…

उसके बाद युवती को ईंट से कूच डाला। जान बचाकर युवती के भागने पर उसे पकड़ा और युवती को मार डाला। उसके बाल पकड़कर सीढि़यों से घसीटते हुए टैंक तक लाए। टैंक में फेंकने के बाद कातिलों ने हाथ में लगे बालों का गुच्छा फेंका। इसके बाद फरार हो गए।

About The Author

निशाकांत शर्मा (सहसंपादक)

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Notifications OK No thanks